मेलबर्न टेस्ट : इतिहास रचने के इरादे से उतरेगा भारत

10:20 PM | Labels: 2 comments

पंडित : ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतने व इतिहास रचने के इरादे से पहुंची भारतीय क्रिकेट टीम सोमवार से खेले जाने वाले चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के पहले टेस्ट मैच में मेलबर्न क्रिकेट मैदान पर शानदार शुरुआत करना चाहेगी।

इससे पहले, भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया का नौ बार दौरा किया है लेकिन उसे टेस्ट श्रृंखला जीतने में कामयाबी नहीं मिली है। ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में भारतीय टीम, ऑस्ट्रेलिया में मेजबान टीम को हराकर अपने 64 वर्ष के सपने को पूरा करने के लिए तैयार है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस मैदान पर अब तक कुल 10 टेस्ट मैच खेले गए हैं जिनमें सात बार ऑस्ट्रेलिया ने बाजी मारी है जबकि दो मैचों में भारत विजयी रहा है वहीं एक मैच ड्रॉ रहा है। आंकड़ों के लिहाज से भारत का इस मैदान पर प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है फिर भी मौजूदा भारतीय टीम इस समय अनुभव और युवा जोश से भरपूर है और ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर मात देकर टेस्ट श्रृंखला जीतने को बेताब है।

इस श्रृंखला को भारत के अनुभवी बल्लेबाजों और आस्ट्रेलिया के युवा गेंदबाजों के बीच मुकाबला माना जा रहा है। भारतीय टीम में अनुभवी सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गम्भीर और धोनी जैसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं जो ऑस्ट्रेलियाई युवा गेंदबाजी आक्रमण से निपटने को तैयार हैं।

तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने 100वें शतक से एक शतक दूर हैं। ऐसे में तेंदुलकर के प्रशंसकों को उनसे काफी उम्मीदें होंगी। भारतीय टीम को तेज शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी सहवाग और गम्भीर के कंधों पर होगा वहीं मध्यक्रम में द्रविड़, लक्ष्मण और धोनी टीम को मजबूती प्रदान करेंगे।

भारतीय टीम के लिए उसके तेज गेंदबाजों की फिटनेस चिंता का विषय बनी हुई है, हालांकि धोनी की माने तो टीम के अनुभवी मुख्य मध्यम गति के गेंदबाज जहीर खान और इशांत शर्मा अपने चोट से उबर चुके हैं और टेस्ट मैच में खेलने को तैयार है। यह दोनों गेंदबाज कितना फिट हैं यह कह पाना अभी मुश्किल है।

धोनी ने संकेत दिया है कि सभी खिलाड़ी फिट हैं और पहले टेस्ट मैच के चयन के लिए उपलब्ध हैं। भारतीय टीम में जहीर, इशांत, उमेश यादव, आर.विनय कुमार और अभिमन्यु मिथुन के रूप में पांच मध्यम गति के गेंदबाज विकल्प के रूप में मौजूद हैं जबकि स्पिनर के रूप में रविचंद्रन अश्विन और प्रज्ञान ओझा अंतिम एकादश टीम में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे। जहीर और इशांत को छोड़कर बाकी के तीनों तेज गेंदबाज पूरी तरह फिट हैं।

दूसरी ओर, होबार्ट टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड से मिली करारी शिकस्त के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम का मनोबल गिरा हुआ है। अनुभवी बल्लेबाज रिकी पोंटिंग और माइकल हसी का खराब फॉर्म ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए चिंता का विषय है।

मौज़ूदा समय में ऑस्ट्रेलियाई टीम बदलाव की दौर से गुजर रही है। इस मुकाबले में पोंटिंग और हसी पर खुद को साबित करने का दबाव है। ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी पोंटिंग, हसी, कप्तान माइकल क्लार्क, ब्रैड हैडिन और शॉन मार्श के इर्द-गिर्द रहेगी। सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी एड कोवान और डेविड वार्नर निभाएंगे।

तेज गेंदबाजी का आक्रमण युवा गेंदबाज जेम्स पैटिंसन, पीटर सिडल और बेन हिल्फेनहास सम्भालेंगे जबकि स्पिन की जिम्मेदारी नाथन लियोन के कंधे पर होगी।

2 comments: